MSME सेक्टर के जरिये 5 करोड़ नयी नौकरियां लाने पर विचार- केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

कोरोना महामारी के देश में तेजी से पैर पसारने के बाद से ही देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान पंहुचा है । काफी लोगो के रोजगार भी चले गए है । ऐसे में अर्थव्यवस्था को वापिस से बेहतर करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रयास शुरू कर दिए गए है।  इस वक्त सरकार को सबसे अधिक उम्मीद MSME (सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग) सेक्टर से है।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि हमारे देश के विकास में हमारे MSME सेक्टर का बड़ा योगदान है। मौका था स्वावलंबन ई-समिट २०२० का जिसमे केंद्रीय मंत्री ने शिरकत की।  आगे उन्होंने बताया कि अभी GDP ग्रोथ रेट में से 30% आय MSME से आती है। हमारे 48% निर्यात MSME का है और अभी तक इस सेक्टर के जरिये हमने 11 करोड़ नौकरियां पैदा की हैं।

कोरोना महामारी से मुकाबला करने  के लिए प्रधानमंत्री द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज के ऐलान में सबसे ज्यादा राशि MSMEs  सेक्टर को ही दी गई है। इसके तहत MSME सेक्टर  को 3 लाख करोड़ का बिना गारंटी लोन देने की सुविधा दी गई है। इससे 45 लाख MSMEs  को फायदा हो रहा है।

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि मेरा विश्वास और विचार है कि हम आने वाले 5 साल में इसे बढ़ाकर कम से कम 30 प्रतिशत ग्रोथ रेट को 50 प्रतिशत, 48 प्रतिशत निर्यात को 60 प्रतिशत करें और 5 करोड़ नई नौकरियां पैदा करें। । अपंजीकृत उद्योगों को MSMEs का लाभ प्राप्त करने के लिए माइक्रो उद्योग के तहत खुद को Register करने की आवश्यकता है।

इस प्रक्रिया के जरिये छोटे व्यापारियों को भी दायरे में लाने पर विचार  किया जा रहा है । ऐसे लोगों को पंजीकृत करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए हमें गैर सरकारी संगठनों से मदद की आवश्यकता है। केंद्रीय मंत्री का मानना है की छोटे उद्योगों के पंजीकरण के लिए गैर सरकारी संगठनों की मदद की भी आवश्यकता है।

यह भी पढ़े->>

प्रधानमंत्री ने लांच की Health ID Card 

PM Launched National Digital Health Mission Yojana 2020 

Leave a Comment